Category: Editor

0

कश्मीर, हिंसा, और अलगाववादी

NEERAJ SINGH कश्मीर जिसे स्वर्ग से तुलना की जाती थी। आज वही कश्मीर सुलग रहा है। कश्मीर खूबसूरत वादियां बीरान हो चली है। हर ओर तरफ हिंसा की चिंगारियां सुलग रही हैं। आखिर इनका...

0

कश्मीरियत,इंसानियत,जम्हूरियत की नीति सुधारेगी कश्मीर के हालात……!

Neeraj Singh कश्मीरियत,इंसानियत,जम्हूरियत की नीति कश्मीर में हिंसा को रोक पाने में कितनी सफल होगी। ये तो आने वाले वक्त में पता चलेगा। कश्मीर के हालात के जिम्मेदार आज भी अशांति फैलाने में कोई...

0

भारत की विदेश नीति का विदेशी पटल पर असर

नीरज सिंह केन्द्र सरकार की विदेश नीति से विदेशी पटल पर भारत धाक बनती दिख रही है। विशेष कर पश्चिमी पूर्ब के देशों में इसका असर दिख रहा है। 15 अगस्त को लाल किले...

0

लोकदस्तक न्यूज़ ग्रुप की तरफ से सभी सुधीगण पाठकों को नवरात्रि बहुत बहुत बधाई।

लोकदस्तक पोर्टल न्यूज़;दैनिक व साप्ताहिक लोकदस्तक न्यूज़ पेपर सहित इस न्यूज़ ग्रुप की ओर से सुधीगण पाठकों को बहुत ही हार्दिक बधाई हो। . owner/editor . NEERAJ SINGH

0

स्वास्थ्य क्षेत्र में मानवता अभी बाकी है

By</lstrong>नीरज सिंह—– मानव जीवन में स्वास्थ्य व शिक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका में होता है।इससे जुड़े लोगों को भगवान का दूसरा स्वरूप माना जाता है । लेकिन अब यह क्षेत्र व्यवसायी हो चला है।लेकिन...

0

” सामाजिक अभिशाप की जड़ भ्रष्टाचार “

आकांक्षा सिंह, रायबरेली, उत्तर प्रदेश ! भ्रष्टाचार एक सामाजिक और राजनैतिक कृत्य है जो समाज के जड़ो को खोखला कर देती है। भ्रष्टाचार समाज के नैतिकता,सम्पन्नता,एक¬ता व अखण्डता पर तीखा प्रहार है जिसमे पुलिस,प्रशासन...

0

पुरुषप्रधान समाज की नपुंसकता !

आकांक्षा सिंह- रायबरेली, उ0प्र0 अाज हमारे देश में महिलाओं के उत्पीड़न यौन हिंसा की घटनाएँ बढ रहीं हैं लेकिन उत्तर प्रदेश में स्थिति सबसे बदतर होती जा रही है जहॉ लगातार महिलाओ का शोषण...

0

“महाशिवरात्रि” सत्यम शिवम सुंदरम.

आकांक्षा सिंह रायबरेली उत्तरप्रदेश ! “सत्यम शिवम सुंदरम” ईश्वर्य सत्य है, सत्य ही शिव है, शिव ही सुन्दर है! प्रिय भारतीयों, हम सब गॉड की अनुपम रचना है! गॉड ये जनरेटर (बनानेवाला), ऑपरेटर (चलानेवाला),...

0

नव वर्ष 2016 की हार्दिक शुभ कामना- संपादक

हिन्दी समाचारों का बेव पोर्टल लोक दस्तक से जुडे सभी साथियों एवं पाठक गणों को लोक दस्तक परिवार की ओर से नव वर्ष 2016 की हार्दिक शुभ कामना। आप सभी से अपेक्षा है कि...

0

मौसमी घोटाला——-!

नीरज सिंह दोस्तों आपको अजीब लगा होगा कि बहुत घोटाले सुने हैं लेकिन ये घोटाला कौन सा है। आपको बता दे कि ये घोटाला मौसम के अनुसार ही होता है यही हकीकत है। ये...