मंदिर के पुजारी की अज्ञात हमलावरों ने की निर्मम हत्या

images HATTYA
कई थानों की पुलिस की गयी तैनात
पुलिस अधीक्षक व सीओ द्वय ने लिया घटना का जायजा
अमेठी। जामों थानाक्षेत्र में एक मंदिर के पुजारी पर अज्ञात हमलों ने निर्मम हत्या कर दी। सुबह होने पर ग्रामीणों ने देखा तो पुजारी खून से लथपथ मौत की नींद सो चुका था। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी, मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक, सीओ मुसाफिरखाना, गौरीगंज व कई थानों की पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया।
घटनाक्रम के अनुसार थानाक्षेत्र के जामों वारिसगंज मार्ग पर कादूनाले के पास स्थित बूढ़े बाबा नोनार घाट मंदिर स्थित है इस मंदिर में स्थाई बाबा के तौर पर जगदम्बा प्रसाद तिवारी उर्फ बिल्लू बाबा निवासी उतेलवा थाना कमरौली रहते है साथ में चेले का काम कई वर्षों से रामनरेश मौर्य 50 वर्ष पुत्र रामनारायण मौर्य निवासी डिहवा थाना मुसाफिरखाना रहा करता था परन्तु रामनरेश मौर्य अपने ननिहाल जामों थानाक्षेत्र ग्राम पूरबगौरा में बचपन से ही रहता था।
बताते चले कि लगभग एक वर्ष इसी मंदिर परिसर में रात के समय मुख्य पुजारी बिल्लू बाबा के ऊपर भी जानलेवा हमला हुआ था उसके बाद से वो अपने रिश्तेदारों के यहां रात आठ बजे के बाद चला जाया करते थे। घटना की रात रामनरेश अकेेले मंदिर में सो रहा था कि अज्ञात हमलावरों ने उसे हमेशा के लिए मौत की नींद में सुला दिया। ताबड़तोड़ कुल्हाड़ी से वार कर कुल्हाड़ी को वहीं फेंककर हमलावर भाग निकले।
इन्सेट- कही पैसे के लिए तो नहीं की गयी पुजारी की हत्या
लोगों की माने तो कही आमदनी को लेकर तो नहीं हुयी रामनरेश की हत्या। न कोई रंजिश न किसी से कोई दुश्मनी हत्या जैसी जघंय वारदात लोगों के जेहन में गूंजने को मजबूर कर दिया है। स्थानीय लोगों में चर्चा का यह विषय है कि मंदिर में हो रही आमदनी को लेकर परेशान था। सप्ताह के तीन दिनों में होने वाली आमदनी को लोग अपने पाले में करना चाहते थे तो कुछ लोग कई तरह की बाते करते नजर आये।
इन्सेट-
छावनी बना नोनार घाट
धर्म के आंचल को दागदार करने वाली घटना ने सबके रोंगटे खड़े कर दिये है। मामला संत समाज से जुड़ा होने के चलते कही आरएएस व विहिप न दखल दे पहले से ही सचेत प्रशासन ने किसी अनहोनी से निपटने के लिए पुलिसिया बन्दोबस्त कर लगभग कई थानों की पुलिस व मुसाफिरखाना, गौरीगंज के क्षेत्राधिकारी सहित अपर पुलिस अधीक्षक के साथ-साथ पुलिस अधीक्षक हीरालाल स्वयं घटनास्थल का जायजा लिया।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *