नवरात्र पर उपवास व हमारा स्वास्थ्य

आकांक्षा सिंह, उत्तरप्रदेष।
इन दिनों त्यौहारों का मौसम षुरू हो चुका है। जिसमें महिलायें व हर वर्ग के लोग उपवास रखते है। जिसका हमारे स्वास्थ्य पर असर भी पडता है। जाने अनजाने हम अपनी अव्यवस्थित दिनचर्या के कारण अपने खानपान पर उतना सलीके से ध्यान नहीं रख पाते है। जिससे हमारा स्वास्थ्य पूरी तरह प्रभावित हो जाता है। इन दिनों मौसम बदलने के कारण हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता पूरी तरह से प्रभवित होती है। जिसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पडता है। हमारा स्वास्थ्य हमारी सबसे मुख्य और अहम पूॅंजी होने के कारण हमें इस बदलते हुए मौसम में खास ध्यान रखना पडता है। इन दिनों स्वास्थ्य की अनदेखी हमें पूरी तरह प्रभावित कर सकती है। खानपान का ध्यान रखना बेहद आवष्यक है। महिलाओं को खासकर निर्जला व्रत नहीं रखना चाहिए। पानी अधिक से अधिक मात्रा में पीना चाहिए। एक साथ खूब सारा पानी नहीं पीना चाहिए। लगातार खाली पेट नहीं रहना चाहिए। खासकर जो लोग व्रत व उपवास रखते है। उपवास में फल जूस इत्यादि का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। खासकर मौसमी फलों का सेवन करना चाहिए। जिससे हमारा मेटाबाॅलिज्म सुचारू रूप से काम कर सके। रोज की भागदौड भरी जिंदगी में तनाव होना आम बात है। उससे बचने के लिए खुद को संयमित करना बेहद आवष्यक है। जो व्यवस्थित खानपान, व्यवस्थित दिनचर्या, व आत्मसंयम के द्वारा संभव हो सकता है। हम दिनभर की आपाधापी में खुद को वक्त नहीं दे पाते हैं। हर काम भविश्य को लेकर इतना व्यस्त रहते हैं कि जो हमारा वर्तमान समय होता है उसे नजरअंदाज कर देते हैं। जिससे हमारा वर्तमान तो प्रभावित होता है, साथ ही भविश्य अपने आप प्रभावित हो जाता है। इसलिए हमें अपनी मुख्य पूॅंजी स्वास्थ्य का खास ध्यान रखना चाहिए।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *